गुजरात में टाटा पावर और सरकार का हैट्रिक: 70,000 करोड़ के निवेश से होगा रोजगार का उत्थान

गुजरात में टाटा पावर और सरकार का हैट्रिक: टाटा पावर की सब्सिडिरी, टाटा पावर रिन्यूएबल एनर्जी लिमिटेड (TPREL), ने गुजरात सरकार के साथ एक समझौता ज्ञापन (MOU) पर हस्ताक्षर करके राज्य में 10,000 मेगावाट की रिन्युएबल एनर्जी पावर प्रोजेक्ट को विकसित करने का उद्देश्य रखा है।

इस गुजरात कार्यक्रम के तहत, टाटा पावर रिन्यूएबल एनर्जी लिमिटेड ने विंड, हाइब्रिड, आरटीसी, पीक और फर्म और डिस्पैपेबल रिन्यूएबल एनर्जी (FDRE) से युक्त विभिन्न प्रकार की ऊर्जा प्रौद्योगिकियों का उपयोग करके 10,000 मेगावाट की रिन्युएबल एनर्जी पावर प्रोडेक्ट को विकसित करने का आयोजन किया है।

इस साझेदारी के माध्यम से, टाटा पावर रिन्यूएबल एनर्जी लिमिटेड ने गुजरात सरकार के साथ समर्थन और सहयोग का सिद्धांत दिखाया है, जिससे राज्य को ऊर्जा स्वायत्तता की दिशा में कदम से कदम मिलाकर बढ़ावा मिलेगा। इस परियोजना के माध्यम से, गुजरात सरकार की स्थापना के साथ मिलकर नए ऊर्जा स्रोतों की प्रोत्साहना और उत्पादन को बढ़ावा देने का प्रयास किया जा रहा है।


WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

रोजगार का नया सृजन: गुजरात में रिन्युएबल ऊर्जा प्रोजेक्ट के लिए भारी निवेश

गुजरात राज्य में हो रहे एक महत्वपूर्ण ईवेंट ने बताया है कि टाटा पावर रिन्यूएबल एनर्जी लिमिटेड (TPREL) और गुजरात सरकार ने एक साझेदारी समझौता (MOU) पर हस्ताक्षर करके गुजरात में रिन्युएबल ऊर्जा प्रोजेक्ट को बढ़ावा देने के लिए ₹70,000 करोड़ की कुल निवेश करने का ऐलान किया है। इस परियोजना की तहत गुजरात में 2030 तक रिन्युएबल स्रोतों से 50% बिजली प्राप्त करने का महत्वाकांक्षी लक्ष्य है, जो संभावित रूप से 3,000 से अधिक लोगों को रोजगार प्रदान कर सकता है।

टाटा पावर रिन्यूएबल एनर्जी लिमिटेड और गुजरात सरकार के इस साझेदारी से होने वाले निवेश से गुजरात राज्य को बहुतंत्र उत्पादन में वृद्धि की संभावना है, जिससे स्थानीय आबादी को नए रोजगार का सृजन हो सकता है।

इस मौके को मिलकर गुजरात सरकार ने बताया कि यह निवेश राज्य की आर्थिक स्थिति को सुधारकर स्थानीय लोगों के लिए नए रोजगार के अवसर उत्पन्न करेगा और ऊर्जा स्वायत्तता में मदद करेगा। इसके अलावा, रिन्युएबल ऊर्जा स्रोतों का अधिक प्रयोग करने से पर्यावरण को भी लाभ होगा, जो स्वस्थ और सांत्वना की जगहें उत्पन्न करेगा।इस घटना ने बताया है कि टाटा पावर रिन्यूएबल एनर्जी लिमिटेड गुजरात के ऊर्जा सेक्टर में नए मील के कदमों की दिशा में आगे बढ़ रहा है और इसे राज्य के विकास में हेतु महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है।

ये पोस्ट आपको जरूर पढना चाहिए..

मैक्सपोज़र आईपीओ: 33 प्राइस बैंड , मौका है या धोखा जानेलें पहले पुरी कुंडली, नहीं तो हो सकता है बड़ा नुकसान

 Motisons Jewellers Ltd: मात्र 10 दिनों में ही पैसे हुए डबल से भी ज्यादा, रिकार्ड तोड़ रिटर्न सभी निवेशक हुए मालामाल 

Top 10 index funds 2024 पाऐं 40℅ से 50℅ तक बम्फर का रिटर्न बिल्कुल जिरो रिश्क पर, आज से ही शुरू करें निवेश…  

SIP: रोज के सिर्फ 100 रूपये से बनो करोड़पति, नये शाल की शुरुआत ऐसे करो, हर सपना होगा पुरा

गुजरात में टाटा पावर और सरकार का हैट्रिक: ₹70,000 करोड़ का निवेश से होगा रोजगार का नया सृजन

गुजरात सरकार ने टाटा पावर रिन्युएबल एनर्जी लिमिटेड (TPREL) के साथ मिलकर एक महत्वपूर्ण समझौता किया है, जिसके तहत गुजरात में 10,000 मेगावाट की रिन्युएबल एनर्जी प्रोजेक्ट की शुरुआत करने का ऐलान हुआ है। इस परियोजना में सोलर, विंड, हाइब्रिड, आरटीसी, पीक, और फर्म और डिस्पैचेबल रिन्युएबल एनर्जी (FDRE) तकनीकों का उपयोग किया जाएगा।

यह निवेश समर्थन में बड़ा कदम है, जो गुजरात को रिन्युएबल ऊर्जा में नेतृत्व स्थापित करने में मदद करेगा और राज्य के लोगों को नए रोजगार का अवसर प्रदान करेगा।इस प्रोजेक्ट के तहत अनुमानित ₹70,000 करोड़ का निवेश होगा, जो गुजरात को रिन्युएबल एनर्जी सेक्टर में एक बड़े स्तर पर सुरक्षित करेगा। यह निवेश राज्य को ऊर्जा स्वायत्तता की दिशा में कदम से कदम मिलाकर बढ़ावा देगा और राज्य की ऊर्जा आवश्यकताओं को पूर्ण करने में मदद करेगा।

इस योजना के माध्यम से गुजरात सरकार ने अधिकतम स्थानीय लोगों को रोजगार प्रदान करने का लक्ष्य रखा है। रिन्युएबल ऊर्जा सेक्टर में होने वाले इस विस्तार के साथ, उद्यमियों और तकनीशियनों को भी नए और उन्नत तकनीकों का सीखने और अपनाने का अवसर मिलेगा। इससे स्थानीय रोजगार का स्तर भी बढ़ेगा और राज्य के आर्थिक विकास को समृद्धि की दिशा में बढ़ावा मिलेगा।



WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment